भूपेश बघेल बिहार के लालू यादव से भी बड़े घोटालेबाज : जोगी

रायपुर।छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल सरकार की आदर्श ग्राम गौठान योजना के फिसड्डी होने की चौतरफा आलोचना हो रही है। सोमवार को जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) प्रदेश अध्यक्ष ने अमित जोगी ने भी मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को निशाना बनाते हुए गौठान घोटाले की जांच सीबीआई से करने की मांग कर दी। साथ ही उन्होंने भूपेश बघेल को लालू प्रसाद यादव के चारा घोटाले से भी बड़ा घोटाला करने वाला बताया। जोगी ने एक बयान में आरोप लगाते हुए कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने 4 जून 2019 को कोरबा जिले के पाली विकासखण्ड के ग्राम केराझरिया में आदर्श गौठान का लोकार्पण किया था। आज दो महीने बाद इस गौठान में न तो गायें हैं, न गायों को खिलाने के लिए चारा बचा है और न ही उनकी देखरेख करने वाले चरवाहे। चरवाहों ने भी पेमेंट नहीं मिलने से काम छोड़ दिया है।

जोगी ने आरोप लगाया कि बीते 6 महीने में मनरेगा के तहत सिर्फ एक बार 5000 की मजदूरी दी गई। 4 चरवाहे नियुक्त किए गए थे लेकिन किसी को भी मजदूरी नहीं मिलने पर सबने काम छोड़ दिया है। वहां रखवाली कर रहे एक बुजुर्ग को भी 6 महीने में सिर्फ एक बार 5000 रूपये मजदूरी मिली है। मनरेगा से पैसा दिया जाना था लेकिन नहीं दिया गया। गौठान में भारी बारिश से पानी भी भरने लगा है और आज वहां दो महीने पहले बना शेड भी गिर गया। क्षेत्रीय कांग्रेसी विधायक और प्रशासन दोनों को इस बात की जानकारी नहीं है। अमित जोगी ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल आदर्श गौठान का उद्घाटन करने हेलिकॉप्टर से गए थे। लेकिन 43 लाख रुपये की लागत से बनाए गए गौठान की सुध लेने की कोशिश भी नहीं की। उन्होंने कहा कि ऐसा हाल प्रदेश के लगभग सभी ‘आदर्श गैठानों’ का है।
अमित जोगी ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ‘गौहत्या’ के आरोपी हैं। भूपेश बघेल ने 7 महीने में बिहार के मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के 15 सालों में किए गए ‘चारा घोटाला’ को कोसों मील पीछे छोड़ दिया। उन्होंने यह भी आरोप लगाया कि 3 सालों में ‘घुरवा’ योजना के बहाने 10,000 करोड़ रुपया डकारने की कोशिश है। उन्होंने मांग की है कि समय रहते इस महा-चारा घोटाले की सीबीआई से निष्पक्ष जांच करवानी चाहिए। इस सम्बंध में जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) द्वारा हर जिले में गठित ‘गौठान जांच दल’ राज्यपाल को सभी प्रमाणों के साथ 1 सितम्बर को ज्ञापन सौंपेगा।